SPLIT AC VS WINDOW AC IN HINDI

नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका हमारी वैबसाइट https://electricalrojgar.com/ पर ।

SPLIT AC VS WINDOW AC IN HINDI
SPLIT AC VS WINDOW AC IN HINDI

क्या आप भी विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर के बारे मे विस्तृत जानकारी जुटाना चाहते है । इस पोस्ट मे हम कुछ पैमाने आधार मानकर इन दोनों की तुलना करेंगे –

application
  1. विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर की तुलना । ( SPLIT AC VS WINDOW AC )
  2. विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर मे कौन सा एयर कंडीसनर बेहतर होता है ।(which ac is better window or split)
  3. विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर मे अंतर (difference between split ac and window ac )
  4. विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर की पावर खपत (window ac vs split ac power consumption)
  5. विंडो एयर कंडीसनर की तुलना मे स्प्लीट एयर कंडीसनर की कीमत (window ac vs split ac price)

बनावट के आधार पर

SPLIT AC VS WINDOW AC विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर की तुलना बनावट के आधार पर करे तो हम देखेंगे कि विंडो एसी की बनावट इस प्रकार की होती है की इसे खिड़की मे ही लगाया जाता है , इसमे केवल एक ही यूनिट होती है जिसमे कंप्रेसर , थर्मोस्टेट एवं अन्य आवश्यक पार्ट जुड़े होते है । जैसा की इसके नाम से ही लग रहा है window ac को खिड़की मे इस प्रकार सेट किया जाता है ,की इसका फ़ेस कमरे के अंदर रहे , ओर पिछला भाग घर के खिड़की से बाहर रहता है जो हवा को खिचता है । यह स्प्लीट एसी कि तुलना मे छोटा होता है ।

किन्तु स्प्लीट एसी मे दो यूनिट होती है एक इन्डोर यूनिट ओर दूसरी आउटडोर यूनिट ।

इन्डोर यूनिट – यह कमरे के अंदर लगती है जिसमे हवा को कमरे मे फैलाने के लिए स्विंग ब्लेड , कंट्रोल करने के लिए रिमोट सेंसर आदि लगे होते है , यह इन्डोर यूनिट कमरे के बाहर लगे आउटडोर यूनिट से जुड़ी होती है ।

आउटडोर यूनिट – यह आमतौर पर छत पर या दीवार पर सेट किया जाता है , यह वातावरण कि हवा को कंप्रेसर से ठंडा करके ही इन्डोर यूनिट को देता है । हॉट एंड कोल्ड प्रकार कि स्प्लीट एसी मे हीटर भी सेट किया जाता है जो ठंड के मौसम मे गरम हवा प्रदान करता है ।

पावर खपत के आधार पर

पावर खपत की बात बात करे तो दोनों ही प्रकार के एसी मे पावर खपत का मापन टन के हिसाब से कर सकते है , टन का मतलब यहा एसी द्वारा होने वाली कुलिंग से होता है , जीतने अधिक ton का एसी होता है उतनी ही अधिक कुलिंग करता है ओर उतनी ही अधिक ऊर्जा की खपत करता है । 1 TON 12000 BTU के बराबर होता है ।

एसी मे टन का क्या महत्व है , इस बारे मे अधिक जानने के लिए यहा क्लिक करे।

स्टार रेटिंग के आधार पर – भारत मे इलैक्ट्रिकल के उपकरण 5 स्टार रेटिंग तक रेट किए जाते है , इनमे जीतने ज्यादा स्टार रेटिंग होती है उतनी ही बिजली की बचत होती है , ओर उपकरण का मूल्य बढ़ता है ।

5 स्टार की तुलना मे 4 स्टार उपकरण 10 % अधिक खपत करता है , ओर इसी प्रकार 4 स्टार से 1 स्टार तक यह प्रति स्टार 10 % की अधिक खपत करता है ।

उत्पन्न शोर के आधार पर

विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर की तुलना यदि शोर के आधार पर करे तो स्प्लीट एसी का कंप्रेसर वाला हिस्सा बाहर लगा होने से ये लगभग पूरी तरह मौन रहते है , किन्तु विंडो एसी मे कंप्रेसर की कुछ आवाज़ लगातारआती रहती है ।

मेंटेनेंस के आधार पर

विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर की तुलना यदि मेंटेनेंस के आधार पर विंडो एसी का मेंटेनेंस आसान होता है , ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर का तुलनात्मक रूप से अधिक खर्चीला होता , ओर तकनीकी रूप से अधिक सक्षम तकनीशियन की आवश्यकता होती है ।

कीमत के आधार पर (AC PRICE )

विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर की तुलना यदि किमत के आधार पर करे तो विंडो एसी सस्ते होते है । ओर स्प्लीट एसी तुलनात्मक रूप से महंगे होते है ।

निष्कर्ष

हमने इस पोस्ट मे विंडो एयर कंडीसनर ओर स्प्लीट एयर कंडीसनर की तुलना करके जाना कि विभिन्न पैमानो मे दोनों मे क्या अंतर होता है । हमे एसी लेते समय हमारी जरूरत के हिसाब से निर्णय लेना चाहिए , जैसे कि बजट कितना है , कितनी जगह को ठंडा रखना है आदि ।

आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेन्ट करके हमे बताए ।

LIVE- TEST देने के लिए यहा क्लिक करे

job update के लिए यहा क्लिक करे

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top