प्राम्भिक विद्युत basic electrical #1

इलैक्ट्रिकल के किसी भी टॉपिक को समझने के लिए प्राम्भिक विद्युत basic electrical को समझना बहुत जरूरी है , प्राम्भिक विद्युत को समझने के बाद इलैक्ट्रिकल के किसी भी अन्य टॉपिक को आसानी से समझा जा सकता है । इस पोस्ट मे हम जानेंगे –

  • पदार्थो की परमाणु सरंचना structure of atom
  • electric current definition- विधुत धारा की परिभाषा
  • विधुत धारा का मात्रक si unit of electric current
  • विद्युत वाहक बल [EMF ] 
  • प्रतिरोध [RESISTANCE ]
  • चालकता [conductivity ]
  • विद्युत धारा के प्रकार

पदार्थो की परमाणु सरंचना ( structure of atom )basic electrical

basic electrical
basic electrical

प्राम्भिक विद्युत basic electrical के विभिन्न घटको को बेहतर तरीके से समझने के लिए पहले एक नजर हम पदार्थो की परमाणु सरंचना पर डालते है। 

application

हम सभी जानते हे की प्रत्येक पदार्थ छोटे छोटे कणो से  मिलकर बना होता है जिन्हे अणु कहते है। और प्रत्येक अणु  कई  परमाणुओं से मिलकर बनता है , परमाणु भी प्रकृति का सूक्ष्मतम कण नहीं है ये भी प्रोटॉन ,न्यूट्रॉन तथा इलेक्ट्रान से मिलकर बना होता है। 
प्रोटोन व न्यूट्रॉन नाभिक के अंदर रहते हे और इलेक्ट्रान नाभिक चारो और विभिन्न कक्षों में अवस्थित होकर परिक्रमा करते रहते है। (basic electrical)

परमाणु की अंतिम कक्षा  के  इलेक्ट्रान मुक्त या संयोजी  इलेक्ट्रान कहलाते है। ये मुक्त इलेक्ट्रान ऊर्जा मिलने पर दूसरे परमाणु के मुक्त  इलेक्ट्रानो से बंध बनाते है यह क्रिया आयनीकरण है। संयोजकता
सामान्य अवस्था में जब तक की परमाणु   को किसी प्रकार की बाह्य  ऊर्जा [यह ऊर्जा हीट व् विद्युत व् अन्य किसी रूप में दी जाती है ] प्रदान न की जाये परमाणु उदासीन रहता है।

इस स्थति में परमाणु में > न्युट्रान पर कोई आवेश नहीं होता। > प्रोटॉन पर  जितना धनावेश होता है उतना ही ऋणावेश इलेक्ट्रान पर होता है अतः हम कह सकते है परमाणु सामान्यतः उदासीन होते है। 

SEMICONDUCTOR अर्धचालक किसे कहते है ।

electric current definition- विधुत धारा की परिभाषा

जब एक वोल्टेज स्त्रोत के सिरो के मध्य बंद परिपथ बनता है तो उस परिपथ मे उपलब्ध प्रतिरोध के आधार पर उस परिपथ मे इलेक्ट्रान का प्रवाह आरंभ हो जाता है ।

इस प्रकार किसी पदार्थ में इलेक्टॉन का प्रवाह की दर विधुत धारा कहलाती है। 

विधुत धारा का मात्रक si unit of electric current (basic electrical)

>विधुत धारा का मात्रक एम्पियर है। 

किसी चालक को यदि 1 कुलम्ब आवेश 1 सेकंड तक दिया जाए तो उसमे 1 एम्पियर विध्युत धारा बहेगी ।
>किसी बिंदु से 1 सेकंड में 1 एम्पियर विध्युत धारा बहने पर उसमे बहने वाले इलेक्ट्रान की संख्या 6.28 *10 ꜛ18 होगी । 
>विध्युत धारा  की चाल और प्रकाश की चाल समान होती है। [3 ✖  10 ꜛ8  ]मीटर/सेकंड 

video credit study power point

  विद्युत वाहक बल [EMF ] (basic electrical)

किसी चालक में विद्युत  धारा को प्रवाहित  करने वाला बल   विद्युत वाहक बल कहलाता हे।

यह सामान्यतः बैटरी या जनरेटर से प्राप्त किया जाता है।

 >emf  का प्रतीक E  और मात्रक वोल्ट v   हे। 

1 वोल्ट emf  से एक Ω प्रतिरोध के वायर में 1 एम्पियर धारा प्रवाहित की  जा सकती है। 

 प्रतिरोध [RESISTANCE ]

प्रतिरोध पदार्थो का वह स्वभाविक गुण हे ,जिससे पदार्थ अपने में बहने वाली धारा का विरोध करता है इसका प्रतीक R हे। >प्रतिरोध का मात्रक ओह्म होता हे इसे Ω से दर्शाते हे। > प्रतिरोध बढ़ने पर चालकता  कम होती हे। 

  चालकता [conductivity ]

चालकता पदार्थो का वह स्वभाविक गुण हे ,जिससे पदार्थ अपने में बहने वाली धारा को सुगमता प्रदान करता है, यह प्रतिरोध का विपरीत गुण होता है । यह गुण मुख्यतः धातुओ मे पाया जाता है । सबसे सुचालक धातु चाँदी है । चालकता का प्रतीक G  हे।

>चालकता का मात्रक साइमन होता है। साइमन का प्रतिक s  हे। 

 विद्युत धारा के प्रकार  type of electric current

  विद्युत धारा दो   प्रकार की होती हे -alternating current and direct current

1 डायरेक्ट करंट DC

1 डायरेक्ट करंट DC   [दिस्ट धारा ]>  इसका मान और दिशा अपरिवर्तित रहती हे। इसका सीधा उत्पादन सौर ऊर्जा , रासायनिक सेलों आदि से किया जाता है , इसका उपयोग इलेक्ट्रोप्लेटिंग ,आर्क वेल्डिंग ,बैटरी चार्जिंग आदि में किया जाता है। 

2 अलटरनेटिंग करंट AC  [ प्रत्यावर्ती धारा ]

2 अलटरनेटिंग करंट AC  [ प्रत्यावर्ती धारा ] >  इसका दिशा और मान एक नियत दर  पर बदलते रहते हे।   यह केवल अलटरनेटर [AC जनित्र ]से ही प्राप्त की जा सकती हे। भारत में घरेलू व औद्योगिक क्षेत्र में सर्वाधिक उपयोग AC  का ही हो रहा है। 

>AC  को सरलता से DC  में बदला जा  सकता हे।  

सारांश

इस पोस्ट मे हमने जाना पदार्थो की परमाणु सरंचना कैसी होती है , विधुत धारा electric current किसे कहते है ,विधुत धारा का मात्रक क्या है (unit of electric current) , विद्युत वाहक बल क्या होता है ,प्रतिरोध किसे कहते है , चालकताकिसे कहते है विद्युत धारा कितने प्रकार की होती है ।

आपको यह पोस्ट केसी लगी कमेंट करके जरूर बताये ।

FOR NEW VACANCY UPDATE CLICK HERE

FOR ONLINE QUIZ CLICK HERE

6 thoughts on “प्राम्भिक विद्युत basic electrical #1”

  1. Pingback: 5 Methods - How To Reduce Energy Bill !,5 तरीके जिनसे आप अपना बिजली बिल कम कर सकते है ! - Electrical Rojgar

  2. Pingback: cell and battery सेल ओर बेटरी #1 - Electrical rojgar

  3. Pingback: Bank Note Press Dewas - BNP RECRUITMENT Junior Technician Advt. No.BNP/HR/Rectt./03/2023 - Electrical rojgar

  4. Pingback: cochin shipyard limited recruitment 2023 - Electrical rojgar

  5. Pingback: SPMCIL – ISP Nashik Recruitment 2023 | 108 Junior Technician Vacancy - Electrical rojgar

  6. Pingback: किरचॉफ के नियम , Kirchhoff 's law #1 - Electrical rojgar

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top